13 February, 2012

यूपी ने देश को सर्वाधिक प्रधानमंत्री........

 



यूपी में जातियों के ब्लूप्रिंट पर नजर डालें तो प्रदेश में 49 जिले ऐसे हैं, जहां सबसे ज्यादा संख्या दलित मतदाताओं की है. कुछ जिले छोड़ दें तो बाकी जगहों पर दलित दूसरा सबसे बड़ा वोट बैंक है. वहीं 20 जिले ऐसे हैं, जहां मुस्लिम वोटर सबसे ज्यादा हैं और 20 जिलों में वे दूसरा सबसे बड़ा वोट बैंक है

अगड़ी जाति

16 फीसदी वोट बैंक
ब्राहमण – 8 फीसदी
ठाकुर – 5 फीसदी
बनिया – 3 फीसदी

पिछड़ी जाति

35 फीसदी वोट बैंक
यादव – 13 फीसदी
कुर्मी – 12 फीसदी
अन्य – 10 फीसदी

इसके अलावा

दलित – 25 फीसदी
मुस्लिम -18 फीसदी
जाट – 5 फीसदी
और अन्य – 1 फीसदी

कहते हैं यूपी देश की राजनीती की दशा और दिशा तय करता है लेकिन 18 मंडल, 75 जनपद, 312 तहसील, 80 लोकसभा, 30 राज्यसभा के साथ 403 सदस्यीय विधानसभा वाला यह राज्य बीमारू राज्यों की श्रेणी में खड़ा है | विकास कहीं पीछे छूट गया है और जाने-अनजाने में यह सूबा धर्म व जाति आधारित राजनीति की प्रयोगशाला बन गया है। जिस यूपी ने देश को सर्वाधिक आठ प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, चौधरी चरण सिंह, राजीव गांधी, विश्वनाथ प्रताप सिंह, चंद्रशेखर और अटल बिहारी वाजपेयी के रूप में दिए हों, वहां धर्म व जाति आधारित राजनीति का बोलबाला है |  और यही यूपी और इस देश का दुर्भाग्य है |
Loading...