18 April, 2013

जिद करो लेकिन जिद्दी मत बनो


जिद करो दुनिया बदलो,
फिर ये संसार तुम्हारा है.

जिंदगी की असली उड़ान अभी बाकी है,
अपने इरादों का इम्तहान बाकी है,
अभी तो नापी है मुट्ठी भर जमी,
अभी तो पूरा आसमान बाकी है!!




एक बस ख्याल तेरे ये रहे,
जिद तेरी ना हो जाये कम,
जिद का देगा जो पूरा साथ,
हार ना होगी कभी तेरे हाथ्,
तभी तो पूरा होगा ये नारा,
जिद करो दुनिया बदलो,
फिर ये संसार तुम्हारा है


जो है दिल में कर गुजरो,
किसी से भी ना तुम डरो,
बस अपने को रखो तुम,
हरकदम पर अपने साथ्,

एक जमाना वो भी था जब जिद करने पर बच्चों को मार पडती थी, और एक आज का जमाना है कि माता-पिता बच्चों के जिद ना करने पर नाराज होते हैं, ये ही तो दोड्ती भागती दुनिया का एक रूप है, माता-पिता करें भी तो क्या, चारों और ये ही हो रहा है, कुछ पाना है तो जिद करनी ही होगी.