20 July, 2016

मुक्तक विषय : आवारगी

मेरी ताज़ा मुक्तक विषय : आवारगी

आवारगी होता क्या है
मेरी तरफ देख तेरा जाता क्या है
तुझे देख कर दिल डोले और बोले
मेरी बनने में तुझे होता क्या है

सादर वंदे
एम के पाण्डेय निल्को

Loading...